कैशलेस इकॉनमी का पहला कदम

काले धन पर अंकुश लगाने जब मैं कैशलेस की दिशा में चलने लगा तब मैंने महसूस किया मेरा कोई पीछा कर रहा है ! मैंने देखा साइबर अपराधी बैंकों के डेटाबेस लिए छुप के खड़े थे उन्होंने मुझे देख लिया था और मेरा पीछा कर रहे थे ! नज़र बचा कर साइबर अपराधियों से बचने के लिए मैं पांच सौ और हज़ार की खाली जगह में जा कर छुप गया ! हज़ार पाँच सौ के खाली गढ्ढों में बहुत शोर था वहाँ ड्रग्स, तस्करी, दांव, डकैती, कर चोरी, रिश्वतखोरी सब अपना सर पीट के रो रहे थे ! नकदी जो अभी भी छोटे मूल्य के घरेलू भुगतान में काम आ रहा था, मुझे साइबर अपराधियों से छुपते देख लिया और रेंगता हुआ मेरे पास आ गया ! ” जरा सोचो, आपकी कोई लीकेज और भ्रष्ट practices हो तो याद करो ” नकदी मुझसे फुसफुसा के बात करने लगा ! “व्हाट ?? ” मैंने चिढ के कहा ! ” जरा सोचो, आपकी कोई लीकेज और भ्रष्ट practices हो तो याद करो ” नकदी मुझसे फुसफुसा के फिर बोला ! मैंने उसकी तरफ देखा और कोई जवाब नहीं दिया ! हम दोनों की नज़रें मिलीं और एक साइलेंट पल बीत गया ! वो बस मुझे मुस्कुराता हुआ घूर रहा था ! ” डिजिटल प्रणाली का कोई मुकाबला नहीं है फिर भी मुझे डिजिटल लेनदेन से क्यों डर लगता है ? ” मैंने पूछा ! ” यहाँ बहुत सी बातें अवैध हैं ” नकदी ने कहा ! ” डिजिटल लेनदेन से डरते क्यों हो ? कैशलेस इकॉनमी में और कोई रास्ता नहीं है ” मैंने इशारे से साइबर अपराधियों की तरफ़ इंगित किया ! उसने मुझे ऐसे देखा जैसे वहां कोई न हो ! ” जरा सोचो, आपकी कोई लीकेज और भ्रष्ट practices हो तो याद करो ” नकदी मुझसे फुसफुसा के तीसरी बार फिर बोला ! मैं समझ गया नकदी नोटबंदी से डिप्रेस्सेड हो कर अपना मानसिक संतुलन खो रहा है !
नकली मुद्रा के खतरे से बचते हुए सामने से किसी देश की एक कैशलेस अर्थव्यवस्था चली आ रही थी ! उसके साथ क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड और ऑनलाइन बैंकिंग भी चल रहे थे ! सफेद और शुद्ध अर्थव्यवस्था देखने में बहुत सुंदर लग रही थी ! नकदी और मैं हज़ार पाँच सौ के जाने से बने गड्डों में साइबर अपराधियों से बचने के लिए ये विद्रूप तमाशा देख रहे थे !
” उठो, देखो एटीएम में पैसा आ गया है ! सब अपना कार्ड स्वाईप करने जा रहे हैं ! जाओ बैंक से पैसे भर लाओ ” पत्नी ने जगा दिया और कैशलेस इकॉनमी का मेरा डरावना सपना टूट गया ! बैंक जाने के लिए जब मैं घर से निकला तो बाहर लेन – देन का कर्कश रिकॉर्ड बज रहा था ! बैंक की लंबी यात्रा के लिए पाँव नहीं उठ रहे थे …

रामनवमी से कैशलेश इकोनॉमी तक

कैशलेश इकोनॉमी

आठ नवंबर को आठ बजे की उद्घोषणा के बाद नवमी तिथि से सब कैशलेस होना शुरू हो गए, राम का नाम ले कर नवम्बर नवमी से नए रामराज्य की शुरुआत हो गयी ! नए रामराज्य की यात्रा रामनवमी से कैशलेश इकोनॉमी तक की है ! पुराने रामराज्य में ज़ुबान एटीएम से कम नहीं था, जो बोल दें मिल जाए ! इसीलिए रामायण में चरित्र वरदान दे और ले रहे थे, कहीं एटीएम का कार्ड नहीं दिखता, कहीं एटीएम का कियोस्क नहीं दिखता, बस सब जुबानी चलता था ! शिक्षा देनें वाले वशिष्ठ गुरूजी भी बच्‍चों के सिर के हिसाब से गुरू दक्षिणा धान – चना – मुर्रा – लाई के रूप में ले लेते थे ! पुराने रामराज्य में कैशलेश इकोनॉमी थी और सब राम भजते थे ! ज्यादातर कैशलेस ट्रांजैक्शन के लिए यूजर्स को अच्छी स्पीड वाले इंटरनेट की जरुरत होती है, राम राज्य में अयोध्या से पंचवटी तक पूरा जंगल ही वाई फाई था ! रामराज्य में शबरी के बेर की क़ीमत ,राम सेतु बनाने में बानरों की तनख़्वा, नाँव के केवट का शुल्क सब कैशलेस हुआ ! वनवास में सीता राम और लक्ष्मण के पास लगभग कोई लगेज नहीं था क्योंकि वो कैशलेस थे ! वन जाते समय उर्मिला ने तो अपना कार्ड भी लक्ष्मण को देकर कैश की चिन्ता से निश्चिन्त हो कर सो गयीं ! रामराज्य में राम भरोसे राज्य को छोड़ कर भरत भी कैश की चिंता से मुक्त हो गए और गद्दी पर खड़ाऊँ रख दिया ! पुराने रामराज्य में कैशलेश इकोनॉमी को लेकर संसद में कभी हंगामा नहीं हुआ ! रामराज्य में कैशलेस इकॉनमी से आम लोगों को कभी परेशानी नहीं हुई, जन आक्रोश आंदोलन नहीं हुआ ! कैशलेस ट्रांजैक्शन के लिए स्मार्टफोन, पर्सनल कंप्यूटर और इंटरनेट कनेक्टिविटी की जरूरत तो होती है पर नए रामराज्य में कैशलेश इकोनामी की सब बेसिक समस्याएं हनुमान जी दूर करेंगे !

कैशलेस देश बनने से काले धन को रोकने में काफी हद तक कामयाबी मिलती है जैसे लंका पहुँच के हनुमान जी को पता चला रामराज्य का सारा कालाधन सोने की लंका में था और उन्होंने आग लगा दी ! नए रामराज्य में अपनी लंका अपने सोने से बनाने में जनता जुटी है ! कैशलेस इकॉनमी में बैंक के इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम के जरिये लेन-देन करने में वक्त भी बचता है, जिसे हम लाइन में खड़े – खड़े काले धन का राम नाम सत्य हो कह कर बिता सकते हैं, कैशलेस इकॉनमी में दो चार घंटे का कोई मोल नहीं ! रामराज्य में साइबर सिक्योरिटी मजबूत थी ! फिर भी डेटा प्रोटेक्शन में सेंध मार के थोड़ी गड़बड़ी रावण ने कर दी और रामराज्य की लक्ष्मी सीता को ले कर भाग गया पर वो भी जरुरी था, नहीं तो साइबर क्रिमिनल रावण मरता कैसे ?

मानो तो देव नहीं तो पत्थर ! जो भी चाहें नाम दे दें, प्रकृति कैशलेस इकॉनमी से ही चलती है ! पृथ्वी से बनी गंध, जल से बनी रसना, तेज़ से बनी आँखें, वायु से स्पर्श बना, आकाश से बने श्रुति और शब्द ! पंचभूतों से बनी हमारी पाँचों इन्द्रियाँ भी कैशलेस ही चलती हैं ! कैशलेश इकोनॉमी की माँग ने सिद्ध कर दिया कि जीवन और दुनिया के माध्यम से कैश चलता था, कैश से दुनिया और जीवन नहीं चल सका !

कैशलेश इकोनामी के राम राज्य में सभी पुरुष मात्र एक कार्ड – व्रती थे ! इसी प्रकार स्त्रियाँ भी मन, वचन और कर्म से अपने एक कार्ड से ही अपना हित करने वाली थीं ! कैशलेस इकॉनमी के नए रामराज्य की अर्थव्यवस्था में सिर्फ़ राम के अर्थ की व्यवस्था है बाकी सब ठन – ठन गोपाल !

कैशलेश इकोनॉमी का सपना लिए नए रामराज्य का नकदहीन समाज कैशलेस दुःख और कैशलेस दर्द में छटपटाने लगा है ! आये थे रामभजन को ओटन लगे कपास ! जनता न कैश की रही न कार्ड की ! ये सच है नकदहीन समाज में दण्ड केवल फकीरों के हाथों में है और हमारे बीच भी अब कैशलेश इकोनॉमी का एक फ़क़ीर हैं !

कैशलेश इकोनामी का राम राज्य होते ही सर्वत्र हर्ष व्याप्त हो जाएगा, सारे भय – शोक दूर हो जाएँगे एवं दैहिक, दैविक और भौतिक तापों से मुक्ति मिल जाएगी ! कोई भी अल्पमृत्यु, रोग – पीड़ा से ग्रस्त नहीं रहेगा, सभी स्वस्थ, बुद्धिमान, साक्षर, गुणज्ञ, ज्ञानी तथा कृतज्ञ हो जाएँगे !

राम राज्य में सब कैशलेस थे पर कोई थैंकलेस नहीं था ! नए रामराज्य में सब थैंकलेस हैं अभी कैशलेस कोई नहीं ! जहाँ कैशलेस इकॉनमी में चिल्लर सिर्फ़ मोबाइल एप्लीकेशन है वहाँ नया रामराज्य पूरी तरह से कैशलेस नहीं बन पायेगा, लेकिन धीरे धीरे राम भरोसे कुछ हद तक होमलेस और जॉबलेस के साथ नया रामराज्य कैशलेस भी हो जाएगा !

सर्दी की वापसी

मौसम

जबसे ऑस्कर विजेता अभिनेत्री जुलिया राबर्ट्स ने हिंदूू धर्म अपना लिया है मेरा मौसम पर से विश्वास उठ गया है ! मैंने सोचा इससे पहले ये सर्दी का मौसम गर्मी में बदल जाए इसे लौटा देना चाहिए ! इस बीच वापसी की अफवाहें काफी तेज हो रही थी, कोई घर वापसी कर रहा था तो कोई नोट ! कन्फर्म ट्रेन टिकट, क्रिकेट, फिल्म, जेल, सत्ता, संन्यास, टेलीविजन, राजनीति, ऋण, धर्म, पुरस्कार से ले कर दिए गए ज़ुबान तक की लोग वापसी कर रहे थे ! मैं भी सर्दी वापसी के लिए एक दिन मौसम डिपार्टमेंट में पहुँच गया ! सर्दी की वापसी के लिए मैं मौसम केंद्र में समय से पहले पहुँच गया था ! कोई लाइन नहीं थी ये देख कर मैंने अपनी ज़ेब टटोली और खाली जेब से मुझे याद आया मैं बैंक में नहीं हूँ ! एक लाईन से निकलकर दूसरी लाईन में लगना ही जीवन का सार है, भारतीय नागरिक के रूप में ये बात मैं अच्छी तरह जानता हूँ ! तब तक काउन्टर खुल गया था !
” मुझे सर्दी से शिकायत है, सर्दी की वापसी करनी है ” मैंने कहा !
” आप हमारे ऑनलाइन स्टोर से खरीदे गये उत्पादों से बहुत खुश होंगे ” जवाब आया !
” हर विवरण झूठा है, मौसम की मार से मैं परेशान हूँ ,आप मुझसे मेरी सर्दी वापस ले लें, मुझे सर्दी नहीं चाहिए ” मैंने कहा !
” आपने इस सर्दी के लिए कितने रुपये भरे थे ? ”
” मैंने तो रुपये नहीं भरे ! मुझे लगा मौसम मुफ्त में मिलता है ”
” रुपये नहीं भरे ? ”
” नहीं ”
” ठीक है फिर फॉर्म भरिये ”
यंग मैन ने मुझे ग़ौर से देखा और बोला ” सर्दी साथ लाये हैं ? ”
” जी ” मैंने कहा !
” कहाँ है ? ”
” नाक में भरा है ” मैंने भारी आवाज़ में जवाब दिया !
” ये क्या हाल बना रखा है, कुछ लेते क्यों नहीं ? ” अचानक उसके मुँह से ये सुना सुनाया वाक्य निकला ! सर्दी से मेरी आँखें भर गयी ! उसने समझा मैं भावुक हो गया हूँ ! उसने मुझे टच किया और वो टच्ड हो गया, पर रोने की जगह छींकने लगा ! ” सर आपकी सर्दी स्ट्रांग है ” कहते हुए उसने रुमाल निकाला ! देखा देखी मैंने भी रुमाल निकाल लिया ! रुमाल के साथ हम दोनों ने लगभग एक ही एक्शन किया !
” आप क्रेता हैं या विक्रेता ? ”
” मैं आम आदमी हूँ ”
‘आप’ हैं ?
” जी, मैं हूँ ”
‘आप’ पार्टी कार्ड लाये हैं ?
यंग मैन ने जैसे मेरी तरफ देखा मैं समझ गया कुछ गड़बड़ है !
” मैं आम आदमी हूँ, पर दिल्ली वाला आम आदमी नहीं, देश के कार्टून वाला आम आदमी हूँ ”
मैंने कहा ! फिर लगा आम आदमी कह कर गलती कर बैठा हूँ ! भक्त हूँ कह देता तो शायद काम बन जाता ! आम आदमी या भक्त ? भक्त या आम आदमी ? मेरा ये कॉन्फ्लिक्ट मुझे परेशान करने लगा ! उसने मेरा चेहरा पढ़ लिया !
” क्रेता और विक्रेता के बीच एग्रीमेंट के बाद जो पंजीयन शुल्क जमा होता है, वह वापसी के समय वापस किया जाना चाहिए। जब दोनों पक्ष संपत्ति की रजिस्ट्री के लिए आते हैं उस दौरान पंजीयन के लिए जमा राशि की रसीद कार्यालय में पेश करनी होती है। उस रसीद नंबर के आधार पर ही क्रेता के खाते में पैसे ट्रांसफर किए जाते हैं। जब से ई-रजिस्ट्री प्रक्रिया शुरू हुई है, तब से किसी भी वापसी में आए-दिन कोई न कोई समस्या आ रही है। सॉफ्टवेयर में त्रुटि के कारण कई क्रेताओं को पंजीयन राशि वापस नहीं मिल रही है। रजिस्ट्री होने के बाद भी पैसे वापस न मिलने पर महानिरीक्षक,पंजीयन एवं मुद्रांक के लिए दिल्ली कार्यालय आवेदन करना होता है। उसके बाद भी पैसे मिलने की प्रक्रिया काफी लंबी है। इसके चलते अपनी रकम पाने के लिए क्रेता को लंबा इंतजार करना पड़ रहा है ! आपकी सर्दी तो मुफ्त की है हम ये नहीं ले सकते ”
एक सांस में वो सारी बात कह गया ! मुझे कुछ समझ नहीं आया ! मेरे भीतर से भक्तिकाल की आवाज आयी और मैं चीख पड़ा ” यह लैं अपनी लकुटि कमरिया, बहुतहिं नाच नचायो, मैया मोरी मैं नहीं माखन खायो ” यह सुन कर यंग मैन मुझे आश्चर्य से देखने लगा और मुस्कुराने लगा ! ” आप तो भक्त हैं ” उसकी ये बात सुन कर मैं सिहर गया !
” सर ये इ – कॉमर्स का मामला है ! आपको अच्छी तरह समझना होगा ” मुस्कुराते हुए उसने कहा ” वापसी का अनुरोध फॉर्म भरिये, यह है वापसी की प्रक्रिया ” एक सी डी देते हुए उसने आगे कहा ” कल इसे देख कर आइयेगा ! यह कार्यक्रम सर्दी के मौसम की आम जानकारी देता है और साथ में ये फॉर्म फिल कर के लाइयेगा ” मैंने जी के आकार में सर हिलाया ! ” हम भक्तों के लिए नया मौसम ले के जल्द ही वापस आ रहे हैं, आपका स्वागत है ! ” उसने कहा ! मैंने भी सोचा रिटर्न और रिफंड से किसका मन भरता है, लोग करते ही रहते हैं ! पर आँखों से निकल कर आँसुओं की वापसी कभी नहीं हुई, आँसू चाहे दुःख – सुख के हों या सर्दी के ! पता नहीं मैं हंस रहा था या रो रहा था ! बैंक में पैसे नहीं थे और मेरी जेब खाली थी, सर्दी से मेरा बुरा हाल था ! मैंने मौसम विभाग में यूँ ही टाइम पास के लिए लाइन लगाने की ठानी, बदले में मुझे एक फॉर्म भरने के लिए मिला और मौसम की जानकारी वाली जुलिया राबर्ट्स की कोई सी डी !

एंग्री सोशल मैन

एंग्री सोशल मैन गुस्से में खड़ा ही रहता है !
एंग्री सोशल मैन राष्ट की इज्जत को की – बोर्ड में रखता है !

एंग्री सोशल मैन अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का पुतला है !
एंग्री सोशल मैन का गुस्सा ऑड – ईवन नहीं होता !
एंग्री सोशल मैन अपना गुस्सा अपने पोस्ट पर पब्लिक कर देता है !
एंग्री सोशल मैन सच्चा देश भक्त है !
एंग्री सोशल मैन जे एन यू को गाली देता है !
एंग्री सोशल मैन का डायजेस्टिव सिस्टम इंटेलेक्टयूएल का पाखण्ड, विरोध का अपच, विचारधारा का अजीर्ण भी डाइजेस्ट कर लेता है !
एंग्री सोशल मैन बकचोदी नहीं करता !
एंग्री सोशल मैन आमिर खान की फ़िल्म को बायकॉट करता है !
एंग्री सोशल मैन भारत माता की जय नहीं बोलता !
एंग्री सोशल मैन विनम्र श्रद्धांजलि भी गुस्से में देता है !
एंग्री सोशल मैन किसी गुमनाम लड़ाई में सबकी मदद करता है !
एंग्री सोशल मैन रिएक्ट कर के अंड बंड, अकर बकर, अंट शंट, आलतू फालतू, बातें नहीं करता !
एंग्री सोशल मैन का गुस्सा ब्रेक नहीं लेता !
एंग्री सोशल मैन का बस नाम ही पढ़ते रहते हैं,
एंग्री सोशल मैन मिस्टर इंडिया है !

एंग्री सोशल मैन की तस्वीरों के पीछे माओत्से झांकते हैं !
एंग्री सोशल मैन रविश कुमार को गाली देता है !
एंग्री सोशल मैन महान गुप्त गतिविधियों में लिप्त रहता है !
एंग्री सोशल मैन के अनुयायी गलियों में नहीं गालियों में सबका पीछा करते हैं !
एंग्री सोशल मैन मुठ्ठी तान नहीं सकता, उसकी मुठ्ठी में फ़ोन रहता है !

एंग्री सोशल मैन शेयर का चहेता, लाइक का प्रेमी, कमैंट्स का फॉलोवर, और सोशल मिडिया का जंतर – मंतर है !
एंग्री सोशल मैन हर सोशल प्लेटफार्म पर गुस्से में ही मिलेगा !
एंग्री सोशल मैन वर्चुअल दुनिया में हँसता है !
एंग्री सोशल मैन का गुस्सा उसके ‘फ्रेंड्स’ झेलते हैं !